देव सूर्य महोत्सव

EverybodyWiki Bios & Wiki से
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोज
देव सूर्य महोत्सव
देव महोत्सव
अन्य नाम देव सूर्य जन्मोत्सव
अनुयायी हिन्दू, सिख, जैन और बौद्ध
उद्देश्य धार्मिक निष्ठा, उत्सव
उत्सव इस दिन नमक त्याग कर सूर्य देव आवाहन कर हवन और पूजन किया जाता है। सूर्य देव की विध वत व्रत और पूजन का महत्व है।
अनुष्ठान पूजा, व्रत, उपवास, कथा, हवन, दान, नमक त्याग
आरम्भ वसंत सप्तमी से या सरस्वती पूजा के दूसरे दिन
समापन वसंत अष्टमी
तिथि हिन्दू पंचांग अनुसार, 12 फरवरी 2019, (दक्षिण भारत एवं दक्षिणपूर्व एशिया)
समान पर्व महाशिवरात्रि, वसन्त पञ्चमी, सोमवती अमावस्या

देव सूर्य महोत्सव, सूर्य महोत्सव, देव महोत्सव या सूर्य जन्मोत्सव के नाम से विश्व प्रख्यात सूर्य जन्मोत्सव देव में 1998 से लागातार प्रशासनिक स्तर पर दो दिवसीय देव सूर्य महोत्सव आयोजन किया जाता है। देव सूर्य महोत्सव बिहार के मुख्य मंत्री या पर्यटन मंत्री के द्वारा आयोजन और उद्घाटन होता है। [१] [२]

सूर्य जन्मोत्सव[सम्पादन]

देव सूर्य जन्मोत्सव या सूर्य महोत्सव जिसमें प्रत्येक वर्ष सूर्य देव की जन्म के अवसर पर मनाया जाता है। यह माघ शुक्ल पक्ष के अंचला सप्तमी को सूर्य देव के जन्म के अवशर पर पूरे शहर वासी नमक को त्याग कर बड़े ही धूम धाम से मानते हैं। इस दिन के अवसर पर बिहार राज्य सरकार के तरफ से कई तरह की कार्यक्रम भी कराया जाता है। बसंत सप्तमी के दिन में देव के सूर्य कुंड तालाब या ब्रह्मकुंड में भव्य गंगा आरती भी होती है जिसे देखने देश के कोने कोने से आते है इसी दिन देव शहर वर्ष की पहली दिवाली मनाती है। और रात्रि में भोजीवुड, बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक के प्रमुख कलाकारों को आमंत्रित किया जाता है और पूरा देव झूम उठता है। देव सूर्य महोत्सव को दिन में विभिन्न तरह के कार्यक्रम होती है जिसमे बच्चे, बूढ़े तथा नये कलाकारों को अपना हुनर दिखाने का मोका दिया जाता है और सभी को बिहार राज्य मंत्री अथवा जिला प्रसासन द्वारा उसे सम्मानित किया जाता है। [३] [४] [५]

सूर्य महोत्सव 2018[सम्पादन]

सूर्य महोत्सव को लेकर डीएम राहुल रंजन महिवाल ने गुरुवार को देव सूर्य मंदिर धर्मशाला में बैठक की थी। बैठक में आगामी वर्ष 12 फरवरी से प्रारंभ हुई तथा इसके अलावा संपूर्ण देव में महोत्सव के दौरान प्रकाश की व्यवस्था सड़क मरम्मत विकास मेला प्रदर्शनी अतिक्रमण सौंदर्यीकरण सहित अन्य ¨बदुओं पर विचार किया गया था। इस अवसर पर जिला जन संपर्क पदाधिकारी धर्मवीर सिंह ने बताया की जिला प्रशासन और पर्यटन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम का उद्घाटन पिछड़ा और अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के मंत्री ब्रजकिशोर बिन्द की अध्यक्षता में पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार 12 फरवरी को देव प्रखंड मुख्यालय में किया था। इस अवसर पर शाकद्वीपीय ब्राह्मण समाज की ओर से 12 फरवरी को सूर्य सप्तमी महोत्सव मनाया गया। तथा रात्रि में बॉलीवुड के महान कलाकार अल्ताफ रजा, भोजीवुड की अक्षरा सिंह और मनीषा कर्मकार का जलवा भी रहा। [६] [७][८][९][१०]

स्थापना[सम्पादन]

देव सूर्य महोत्सव 1998 से लागातार प्रशासनिक स्तर पर दो दिवसीय देव सूर्य महोत्सव आयोजन किया जाता है।

आयोजक[सम्पादन]

देव सूर्य महोत्सव बिहार के पर्यटन विभाग के द्वारा आयोजन होता है।

यह भी देखें[सम्पादन]


बाहरी कड़ियाँ[सम्पादन]

पर्यटन विभाग बिहार सरकार के जालपृष्ठ पर क्रम संख्या २० में वर्णित



This article "देव सूर्य महोत्सव" is from Wikipedia. The list of its authors can be seen in its historical and/or the page Edithistory:देव सूर्य महोत्सव.