Welcome to EverybodyWiki 😃 ! Nuvola apps kgpg.png Log in or ➕👤 create an account to improve, watchlist or create an article like a 🏭 company page or a 👨👩 bio (yours ?)...

भीमराव आम्बेडकर द्वारा लिखित किताबें व अन्य रचनाएँ

EverybodyWiki Bios & Wiki से
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोज

भीमराव आम्बेडकर प्रतिभाशाली लेखक, सफल पत्रकार एवं जुझारू सम्पादक थे। आम्बेडकर को पढने में बहोत रूची थी तथा वह लेखन में भी रूची रखते थे। इसके चलते उन्होंने मुंबई के घर "राजगृह" में ही एक समृद्ध ग्रंथालय का निर्माण किया था, जिसमें 50 हजार से भी अधिक किताबें थी। अपने लेखन द्वारा उन्होंने दलितों व देश की समस्याओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने लिखे हुए महत्वपूर्ण ग्रंथो में, 'अनहिलेशन ऑफ कास्ट', 'द बुद्ध अँड हिज धम्म', 'कास्ट इन इंडिया', 'हू वेअर द शूद्राज?', 'रिडल्स इन हिंदुइझम' आदि शामिल हैं। अपने समकालीन सभी राजनेताओं की तुलना में उन्होंने सबसे अधिक लेखन किया हैं।[१] 32 पुस्तकें और शोध प्रबंध (22 पूर्ण तथा 10 अपूर्ण पुस्तकें), 10 ज्ञापन, साक्ष्य और वक्तव्य, 10 अनुसन्धान दस्तावेज, लेखों और पुस्तकों की समीक्षा एवं 10 प्रस्तावना और भविष्यवाणियां इतनी सारी उनकी अंग्रेजी भाषा की रचनाएँ हैं।[२] इसके अलावा वह भारतीय संविधान के भी लेखक हैं। उन्हें करीब ग्यारह भाषाओं का ज्ञान था, जिसमें मराठी (मातृभाषा), अंग्रेजी, हिन्दी, पालि, संस्कृत, गुजराती, जर्मन, फारसी, फ्रेंच, कन्नड और बंगाली ये भाषाएँ शामिल है।[३] किन्तु पत्र-पत्रिकाओं के अलावा उनका लगभग सभी लेखन अंग्रेजी भाषा में रहा। सामाजिक संघर्ष एवं राजनितीक गतिविधियों में हमेशा सक्रिय और व्यस्त होने के बावजुद भी, उनके द्वारा रचित अनेकों किताबें, निबन्ध, लेख एवं भाषणों का बड़ा संग्रह है। वे असामान्य प्रतिभा के धनी थे। उनके साहित्यिक रचनाओं को उनके विशिष्ट सामाजिक दृष्टिकोण, और विद्वता के लिए जाना जाता है, जिनमें उनकी दूरदृष्टि और अपने समय से आगे की सोच की झलक मिलती है। उनके ग्रंथ भारत सहित पूरे विश्व में बहुत पढ़े जाते हैं। 'भगवान बुद्ध और उनका धम्म' नामक उनका ग्रंथ भारतीय बौद्धों का 'धर्मग्रंथ' है तथा बौद्ध देशों में महत्वपूर्ण है।[४] उनके डी.एस.सी. प्रबंध द प्रॉब्लम ऑफ द रूपी : इट्स ओरिजिन ॲन्ड इट्स सोल्युशन से भारत के केन्द्रीय बैंक यानी भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना हुई है।[५][६][७]

आम्बेडकर जी का साहित्य
  1. उनका वैचारिक लेखन
  2. अखबार में लेखन
  3. उनके खत
  4. उनका शोध लेखन
  5. उनके भाषण

सम्पूर्ण साहित्य की सूची[सम्पादन]

बाबासाहेब आम्बेडकर ने राजनीति, अर्थशास्त्र, मानवविज्ञान, धर्म, समाजशास्त्र, कानून, कृषि आदि विषयों पर पुस्तकें हैं। भीमराव आम्बेडकर के सम्पूर्ण लेखन साहित्य की सूची निम्नलिखित हैं।[८][९]

पुस्तकें एवं शोध प्रबंध[सम्पादन]

[1] एडमिनिस्ट्रेशन एंड फिनांसेज़ ऑफ़ द ईस्ट इंडिया कंपनी (एम॰ए॰ की थीसिस)

[2] द एवोल्यूशन ऑफ़ प्रोविंशियल फिनांसेज़ इन ब्रिटिश इंडिया (पीएच॰डी॰ की थीसिस, 1917, 1925 में प्रकाशित)

[3] दी प्राब्लम आफ दि रुपी : इट्स ओरिजिन एंड इट्स सॉल्यूशन (डीएस॰सी॰ की थीसिस, 1923 में प्रकाशित)

[4] अनाइहिलेशन ऑफ कास्ट्स (जाति प्रथा का विनाश) (मई 1936)

[5] विच वे टू इमैनसिपेशन (मई 1936)

[6] फेडरेशन वर्सेज़ फ्रीडम (1936)

[7] पाकिस्तान और द पर्टिशन ऑफ़ इण्डिया / थॉट्स ऑन पाकिस्तान (1940)

[8] रानडे, गांधी एंड जिन्नाह (रानडे, गांधी और जिन्ना) (1943)

[9] मिस्टर गांधी एण्ड दी एमेन्सीपेशन ऑफ़ दी अनटचेबल्स (सप्टेबर 1945)

[10] वॉट कांग्रेस एंड गांधी हैव डन टू द अनटचेबल्स ? (जून 1945)

[11] कम्यूनल डेडलाक एण्ड अ वे टू साल्व इट (मई 1946)

[12] हू वेर दी शूद्राज़ ? (अक्तुबर 1946)

[13] भारतीय संविधान में परिवर्तन हेतु कैबिनेट मिशन के प्रस्तावों का, अनुसूचित जनजातियों (अछूतों) पर उनके असर के सन्दर्भ में दी गयी समालोचना (1946)

[14] द कैबिनेट मिशन एंड द अंटचेबल्स (1946)

[15] स्टेट्स एण्ड माइनोरीटीज (1947)

[16] महाराष्ट्र एज ए लिंग्विस्टिक प्रोविन्स स्टेट (1948)

[17] द अनटचेबल्स: हू वेर दे आर व्हाय दी बिकम अनटचेबल्स (अक्तुबर 1948)

[18] थॉट्स ऑन लिंगुइस्टिक स्टेट्स: राज्य पुनर्गठन आयोग के प्रस्तावों की समालोचना (प्रकाशित 1955)

[19] द बुद्धा एंड हिज धम्मा (भगवान बुद्ध और उनका धम्म) (1957)

[20] रिडल्स इन हिन्दुइज्म

[21] डिक्शनरी ऑफ पाली लॅग्वेज (पालि-इग्लिश)

[22] द पालि ग्रामर (पालि व्याकरण)

[23] वेटिंग फ़ॉर अ वीज़ा (आत्मकथा) (1935-1936)

[24] अ पीपल ऐट बे

[25] द अनटचेबल्स और द चिल्ड्रेन ऑफ़ इंडियाज़ गेटोज़

[26] केन आय बी अ हिन्दू?

[27] व्हॉट द ब्राह्मिण्स हैव डन टू द हिन्दुज

[28] इसेज ऑफ भगवत गिता

[29] इण्डिया एण्ड कम्यूनिज्म

[30] रेवोलोटिओं एंड काउंटर-रेवोलुशन इन एनशियंट इंडिया

[31] द बुद्धा ऑर कार्ल मार्क्स (बुद्ध या कार्ल मार्क्स)

[32] कोन्स्टिट्यूशन एंड कोस्टीट्यूशनलीज़म

ज्ञापन, साक्ष्य और वक्तव्य[सम्पादन]

[33] On Franchise and Framing Constituencies मताधिकार एवं निर्वाचन क्षेत्र बनाने के सन्दर्भ में (1919)

[34] Statement of Evidence to the Royal Commission of Indian Currency भारतीय मुद्रा के दिया गया शाही आयुक्तालय को साक्ष्य का बयान (1926)

[35] Protection of the Interests of the Depressed Classes शोषित/वंचित वर्गों के अधिकारों की रक्षा पर दिया गया बयान (मई 29, 1928)

[36] State of Education of the Depressed Classes in the Bombay Presidency बम्बई प्रेसीडेंसी में पिछड़े वर्गों में शिक्षा के स्तर के सम्बन्ध में (1928)

[37] Constitution of the Government of Bombay Presidency बम्बई प्रेसीडेंसी सरकार का संविधान (मई 17, 1929)

[38] A Scheme of Political Safeguards for the protection of the Depressed in the Future Constitution of a Self- governing India भविष्य के स्वशासित भारतीय संविधान में पिछड़े वर्गों के लिए राजनैतिक प्रतिरक्षण की योजना (1930)

[39] The Claims of the Depressed Classes for Special Represention पिछड़े वर्गों के विशेष प्रतिनिधित्व की मांग (1931)

[40] Franchise and Tests of Untouchability छुआ-छूत की परख और विशेषाधिकार (1932)

[41] The Cripps Proposals on Constitutional Advancement संवैधानिक प्रगति पर क्रिप्स प्रस्ताव (जुलाई 18, 1942)

[42] Grievances of the Schedule Castes अनुसूचित जातियों की शिकायतें (अक्तुबर 29, 1942)

अनुसन्धान दस्तावेज, लेख और पुस्तकों की समीक्षा[सम्पादन]

[43] कास्ट्स इन इण्डिया : देयर जीनियस, मेकैनिज़म एंड डिवेलपमेंट (1918)

[44] Mr. Russel and the Reconstruction of Society मिस्टर रसल एंड द रिकंस्ट्रक्शन ऑफ़ सोसाइटी (1918)

[45] स्माल होलिंग्स इन इंडिया एण्ड देयर रेमिडीज (1918)

[46] करेंसी एंड एक्सचेंजेज़ (1925)

[47] द प्रेजेंट प्रॉब्लम ऑफ द इंडियन करेंसी (अप्रैल 1925)

[48] Report of Taxation Enquiry Committee कराधान जाँच समिति की रिपोर्ट (1926)

[49] Thoughts on the Repform of Legal Education in the Bombay Presidency बम्बई प्रेसीडेंसी में न्यायिक शिक्षा में सुधार पर विचार (1936)

[50] राइजिंग एंड फाल ऑफ हिन्दू वुमन (1950)

[51] Need for checks and Balances नीड फॉर चेक्स एंड बैलेंसेज़ (नियंत्रणों और संतुलनों की आवश्यकता) (अप्रैल 23, 1953)

[52] बुद्ध पूजा पाठ (मराठी में) (नवम्बर 1956)

प्रस्तावना और भविष्यवाणियां[सम्पादन]

[53] Forward to Untouchable Workers of Bombay City अंटचेबल वर्कर्स ऑफ़ बॉम्बे सिटी की प्रस्तावना (1938)

[54] Forward to commodity Exchange पुस्तक: कमोडिटी एक्सचेंज की प्रस्तावना (1947)

[55] Preface to the Essence of Buddhism पुस्तक, द एसेंस ऑफ़ बुद्धिजम की भूमिका (1948)

[56] Forward to Social Insurance and India सोशल इन्शुरन्स एंड इंडिया की प्रस्तावना (1948)

[57] Preface to Rashtra Rakshake Vaidik Sadhan पुस्तक, राष्ट्र रक्षा के वैदिक साधन की भूमिका (1948)

पत्र-पत्रिकाएँ[सम्पादन]

आम्बेडकर द्वारा सम्पादित पत्र-पत्रिकाएँ

आम्बेडकर एक सफल पत्रकार एवं संपादक थे। उन्होंने शोषित एवं दलित समाज में जागृति लाने के लिए कई पत्र एवं पत्रिकाओं का प्रकाशन एवं सम्पादन किया। इनसे उनके दलित आंदोलन को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण मदद मिली। डॉ॰ आम्बेडकर ही दलित पत्रकारिता के आधार स्तम्भ हैं क्योंकी वे दलित पत्रिकारिता के प्रथम संपादक, संस्थापक एवं प्रकाशक हैं। डॉ॰ आम्बेडकर ने सभी पत्र मराठी भाषा में ही प्रकाशित किये क्योंकि उनका कार्य क्षेत्र महाराष्ट्र था और मराठी वहां की जन भाषा है। और उस समय महाराष्ट्र की शोषित एवं दलित जनता ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं थी, वह केवल मराठी ही समझ पाती थी। कई दशकों तक उन्होंने पांच मराठी पत्रिकाओं का संपादन किया था, जिसमे मूकनायक, जनता, बहिष्कृत भारत, समता एवं प्रबुद्ध भारत सम्मिलित हैं।[१०][११][१२][१३]

उल्लेखनिय लेख[सम्पादन]

आम्बेडकर ने पत्र-पत्रिकाएँ में आदि महत्वपूर्ण व प्रसिद्ध लेख लिखे हैं, उनमें से कुछ निन्मलिखीत हैं।[१४]

  • आइडिया ऑफ ए नेशन
  • फिलॉसॉफी ऑफ हिन्दुइज्म
  • सोशल जस्टिस एंड पॉलिटिकल सेफगार्ड ऑफ डिप्रेस्ड क्लासेज
  • गांधी एंड गांधीइज्म
  • बुद्धिस्ट रेवोल्यूशन एंड काउंटर-रेवोल्यूशन इन एनशिएंट इंडिया
  • द डिक्लाइन एंड फॉल ऑफ बुद्धिइज्म इन इंडिया

भाषण[सम्पादन]

आम्बेडकर प्रभावी वक्ता थे, उन्होंने विभिन्न विषयों पर कुल 537 भाषण किये हैं। यह भाषण भी आम्बेडकर साहित्य का महत्वपूर्ण भाग हैं। कई भाषणों संकलन कर पुस्तके भी निर्माण कि गई हैं। नरेन्द्र जाधव की मराठी किताब "बोल महामानवाचे" (हिंदी: बोल महामानव के) में आम्बेडकर के 500 भाषणों का संग्रह हैं।

डॉ॰ बाबासाहेब आम्बेडकर: राइटिंग्स एण्ड स्पीचेज[सम्पादन]

महाराष्ट्र सरकार के शिक्षा विभाग ने बाबासाहब आम्बेडकर के सम्पूर्ण साहित्य को कई खण्डों में प्रकाशित करने की योजना बनायी है। इसके अन्तर्गत अभी तक "डॉ॰ बाबासाहेब आम्बेडकर: राइटिंग्स एण्ड स्पीचेज" नाम से 22 खण्ड अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित किये जा चुके हैं, और इनकी पृष्ठ संख्या 15 हजार से भी अधिक हैं। इस वृहत योजना के पहले खण्ड का प्रकाशन आम्बेडकर के जन्म दिवस 14 अप्रैल, 1979 को हुआ। ‘डॉ॰ बाबासाहेब आम्बेडकर: राइटिंग्स एण्ड स्पीचेज’ के खण्डों के महत्व एवं लोकप्रियता को देखते हुए भारत सरकार के ‘सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय’ के डॉ॰ आम्बेडकर प्रतिष्ठान ने इस खण्डों के हिन्दी अनुवाद प्रकाशित करने की योजना बनायी और इस योजना के अन्तर्गत अभी तक "बाबा साहेब डा. अम्बेडकर: संपूर्ण वाङ्मय" नाम से 21 खण्ड हिन्दी भाषा में प्रकाशित किये जा चुके हैं।[१५] इन हिन्दी खण्डों के कई संस्करण प्रकाशित किये जा चुके हैं।[१६]

इन्हें भी देखें[सम्पादन]

सन्दर्भ[सम्पादन]

  1. जाधव, डॉ. नरेंद्र (24 अक्तुबर 2012) (मराठी में). बोल महामानवाचे. ग्रंथाली. पृ॰ 5. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789380092300. 
  2. जाधव, डॉ. नरेंद्र (24 अक्तुबर 2012) (मराठी में). प्रज्ञा महामानवाची (खंड २). ग्रंथाली. पृ॰ 344-350. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789380092300. 
  3. आंबेडकर, डॉ. बाबासाहेब (2012) (मराठी में). माझी आत्मकथा. 
  4. Christopher Queen (2015). Steven M. Emmanuel. ed. A Companion to Buddhist Philosophy. John Wiley & Sons. पृ॰ 529–531. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-119-14466-3. https://books.google.com/books?id=P_lmCgAAQBAJ. 
  5. [१]
  6. [२]
  7. http://rbidocs.rbi.org.in/rdocs/Publications/PDFs/RBI290410BC.pdf
  8. जाधव, डॉ. नरेंद्र (24 अक्तुबर 2012) (मराठी में). बोल महामानवाचे. ग्रंथाली. पृ॰ अंतिम पन्ने. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789380092300. 
  9. [https://drambedkarbooks.com/dr-b-r-ambedkar-books/
  10. https://www.forwardpress.in/2017/02/a-glance-at-dr-ambedkars-writings/
  11. बाबा साहेब डा. आंबेडकर सम्पूर्ण वाङ्मय, खण्ड-1, पृ0 35
  12. बाबा साहेब डा. आंबेडकर सम्पूर्ण वाङ्मय, खण्ड-15, पृ0 10
  13. डा. बाबासाहेब आंबेडकर – जीवन चरित, धनंजय कीर, हिन्दी अनुवाद- गजानन सुर्वे, पृ0 387
  14. https://www.forwardpress.in/2017/02/baba-sahab-dr-ambedkar-ka-srijnatmak-sahity/
  15. http://velivada.com/2017/05/01/pdf-21-volumes-of-dr-ambedkar-books-in-hindi/
  16. https://www.forwardpress.in/2017/02/baba-sahab-dr-ambedkar-ka-srijnatmak-sahity/

बाहरी कड़ियाँ[सम्पादन]


This article "भीमराव आम्बेडकर द्वारा लिखित किताबें व अन्य रचनाएँ" is from Wikipedia. The list of its authors can be seen in its historical and/or the page Edithistory:भीमराव आम्बेडकर द्वारा लिखित किताबें व अन्य रचनाएँ.